नेल्सन मंडेला के जीवन के बारे में ABOUT NELSON MANDELA GK IN EXAM 2018

नमस्कार दोस्तों आप सभी का मेरे ब्लॉग हार्दिक स्वागत हु |  मैं अपने ब्लॉग पर GK से रिलेटेड पोस्ट डालता रहता हूं जिससे आने वाली परीक्षा में बच्चों के हेल्प हो सके दोस्तों आज हम एक ऐसी मनुष्य के बारे में जिक्र करने वाले हैं नेल्सन मंडेला जिन्होंने अपने पूरे जीवन में एक अच्छा कार्य किया जिसके लिए उसे आज भी याद किया जाता है|



  •  उस मनुष्य का नाम है नेल्सन मंडेला जो sauth affrica की राष्ट्रपति के रूप में भूमिका निभाई क्योंकि जिन्होंने अपने जीवन में रंगभेद की नीति के खिलाफ संघर्ष किया क्योंकि अमेरिका में रंगभेद का बहुत 



  • अधिक महत्व दिया जाता है नेल्सन मंडेला ne  राष्ट्रपति बनते ही सबसे पहला कार्य रंगभेद प्रकिया जिसके लिए उसको एक अच्छे व्यक्ति के रुप में प्रसिद्धि मिली 10 मई 1994 को नेल्सन मंडेला नहीं प्रिटोरिया संपन्न हुआ था इसलिए 10 मई का दिन अमेरिका की भी चमकीला दिन माना जाता है दक्षिण अफ्रीका प्रजातांत्रि चुनाव 1994 मैं हुए



  • 10 मई 1994 को दक्षिण अफ्रीका के प्रथम अश्वेत राष्ट्रपति बने उद्घाटन समारोह में संसार के 
कुल 40 से अधिक देशों में नेल्सन मंडेला के प्रति सम्मान व्यक्त किया सर्वप्रथम  डी क्लर्क द्वितीय उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ दिलाई गई थी संभोग तब्बू मैं विकी प्रथम राष्ट्रपति के रूप में शपथ दिलाई गई|  



  • तब मंडल विधान को मनाने और उनकी रक्षा करने की प्रतिज्ञा की यह प्रतिज्ञा की थी लोगों की भलाई के प्रति स्वयं को समर्पित कर देंगे उसने सभी अंतरराष्ट्रीय मेहमानों को धन्यवाद किया इस नई आजादी को न्याय शांति मानव सम्मान की जीत बताया उसने देशवासियों गरीबी दुख और भेदभाव से स्वतंत्र करने की प्रतिज्ञा की और उसके बाद सेना के बड़े जर्नल ने मंडेला को सलामी दी उस दिन मंडला इतिहास को याद करते हैं लंबे समय तक रहने वाला गांव उत्पन्न कर दिया घाव इस नीति के कारण ही महान स्वतंत्रता सेनानी उत्पन्न हुई थी यह सभी असाधारण उत्साह बुद्धिमान और उदारतापूर्वक तिथि व्यक्ति थे दक्षिण अफ्रीका के देश भक्तों को श्रद्धांजलि देता है स्वयं को उन सभी देशभक्तों का सार मानता है जो उससे पहले जा चुके थे नेल्सन मंडेला यह भी कहती थी कि जीवन में प्रत्येक व्यक्ति के दो कर्तव्य होते हैं अपने परिवार के प्रति अपने माता-पिता अपनी 




       tulsidas ke baare me janne ke liye
http://gkpdo.blogspot.in/2018/02/kavi-tulsidas-jivan-prichye.html


  • पत्नी और अपने बच्चों के प्रति एक कर्तव्य अपने लोगों अपने समुदाय अपने समाज अपने देश के प्रति पता है प्रत्येक व्यक्ति उन कर्तव्यों का पालन अपनी स्वयं की योग्यताओं के अनुसार पूर्ण करने योग्य होता है लेकिन देश में मेरे जैसे जन्म और राम के प्रति दोनों करते हुए दोनों कर्तव्यों को पूर्ण करना असंभव था मेरे जैसे जन्म और रंग के प्रति एक व्यक्ति बनने का प्रयास करता हां था उसे उसके परिवार और उसके घर से अलग कर दिया जाता था और भी अनेक और भी अनेक तरीकों से उन्होंने उन्होंने एक अच्छे तरीके से संविधान को गरीबों का दुखी व्यक्तियों को संविधान में अहम योगदान दिलवाया जिसके कारण उन्हें आज भी याद किया जाता है|  








gkpdo


  • क्योंकि वह पहले अश्वेत व्यक्ति थी जो राष्ट्रपति बने थे इसी के लिए उन्हें याद किया जाता है तो दोस्तों इस बारे में और भी अनेक जानकारियां मिलती है




 परंतु 10वीं 12वीं परीक्षाओं में इतना ही पूछा जाता है जिससे एक विद्यार्थी अच्छे अंक प्राप्त कर सकता है क्योंकि आज इस युग में मोबाइल का युग माना जाता है क्योंकि बच्चे मोबाइल पर ही सब कुछ कर लेते हैं और उन्हें अच्छा भी लगता है वह किताबों से दूर चले जा रहे हैं उन्हें फोन से लगाव होता जा रहा है पोस्ट अच्छी लगे तो शेयर जरूर करें धन्यवाद

Comments

Popular posts from this blog

kavi surdaas jivan prichye

भारतीय धर्मों के बारे में basic jankari muslim dharm jain dharm parsi dharm gk se संबंधित जानकारीWHAT IS THE HINDULISM

UNIVERSE KE BAARE ME BRAHMAND KYA HAI BRAHMAND KI KHOJ IN HINDI ब्रह्माण्ड की जानकारी[ हिंदी में ]