भारतीय सभ्यता के बारे में GK से संबंधित BHARTIYE SABHYTA KE BAARE ME JANE HINDI ME

नमस्कार दोस्तों मैं अपने ब्लॉग पर आप सभी का हार्दिक स्वागत करता हूं जैसा कि आप जानते हैं मैं अपनी पोस्टों के माध्यम से भारतीय इतिहास और जी की से रिलेटेड डालता रहता हूं जो एक बहुत लाभदायक रहता है आज भी मैं आपको भारतीय इतिहास के बारे में बताने जा रहा हूं




  • प्रागैतिहासिक काल 
  • जिस कॉल नहीं मनुष्य की घटनाओं का कोई भी लिखित विवरण नहीं किया जाता नमस्कार को प्रागैतिहासिक काल कहते हैं मनुष्य विकास की उस कॉल को इतिहास कहां जाता है जिसका विवरण लिखित रूप में मिलता है


  • आध ऐतिहासिक काल उसको कहा जाता है जिसमें लिखित कला प्रचलन के बाद उपलब्ध लेख पढ़ी नहीं जा सके हैं






  • ज्ञानी मानव का प्रवेश इस धरती पर आज से लगभग 30 से 40 हजार वर्ष पूर्व हुआ था




  • पूर्व पाषाण युग मानव की जीविका का मुख्य आधार था शिकार करना


  • आग का आविष्कार पुरापाषाण काल में और  पहिए का आविष्कार नवपाषाण काल में हुआ था


  • मानव में स्थाई निवास की परवर्ती नवपाषाण काल में हुई तथा उसने सबसे पहले कुत्ते को पालतू पशु बनाया


  1. मनुष्य द्वारा सबसे पहले तांबा धातु का प्रयोग किया गया और उसके द्वारा जाने वाला पहला औजार कुल्हाड़ी था


  • खेती का आविष्कार नवपाषाण काल में हुआ प्रागैतिहासिक अन्न उत्पादक स्थल मेहरगढ़ पश्चिमी बलूचिस्तान मैं है खेती के लिए अपनाई गई सबसे पुरानी फसल गेहूं और जौं थी 


  • खेती का प्रथम उदाहरण मेहरगढ़ से प्राप्त हुआ है कुल्हाड़ी बा का संबंध चावल की पुराने  साक्ष्य से है


  • रॉबर्ट ब्रूस फुट पहले व्यक्ति थे 18 63 ईसवी में भारत में पुरापाषाण कालीन हथियारों की खोज की


  • भारत का सबसे पुराना नगर मोहनजोदड़ो था सिंधी भाषा में जिसका अर्थ होता है मृतकों का टीला


  • भारत में शिवालिक की पहाड़ी से  जीवाशम का प्रमाण मिलता है भारत में मनुष्य संबंधी सबसे पहला प्रमाण नर्मदा घाटी से मिला है


  • सिंधु घाटी सभ्यता रेडियो कार्बन जय सिंह नवीन विश्लेषण पद्धति के द्वारा सिंधु सभ्यता की सर्वमान्य तारीख 24 ईसा पूर्व से 1700ईसा पूर्व मणि जाती है


  • सिंधु सभ्यता की खोज रायबहादुर दयाराम साहनी ने की थी


  • सिंधु सभ्यता के सबसे अधिक पश्चिमी पुरास्थल दशक नदी के किनारे आलमगीरपुर बलूचिस्तान पूर्वी पुरास्थल हिंडन नदी किनारे जिला मेरठ उत्तर प्रदेश उत्तरीपुरा स्थल चिनाव नदी के तट पर अखनूर के निकट मादा जम्मू कश्मीर तथा दक्षिणी पुरास्थल गोदावरी नदी के तट पर दायमाबाद जिला अहमदनगर महाराष्ट्र से प्राप्त हुए हैं


  • स्वतंत्रता प्राप्ति पश्चात हड़प्पा संस्कृति की सर्वाधिक स्थल गुजरात में पाए गए हैं


  • सिंधु सभ्यता एक नगरीय सभ्यता थी सिंधु सभ्यता से प्राप्त परिपक्व अवस्था वाले सपनों में केवल 6 को ही बड़े नगर की संज्ञा दी गई मोहनजोदड़ो हड़प्पा गढ़वाली वाला धोलावीरा राखीगढ़ी कालीबंगन जो प्रमुख स्थल मानी गई है


  • लोथल और सुतको तदा सिंधु सभ्यता का बंदरगाह था


  • जूते हुए खेत नक्शा सिदार ईंटों का प्रयोग कालीबंगन से प्राप्त हुआ है


  • मोहनजोदड़ो से प्राप्त अन्ना घर सिंधु सभ्यता की सबसे बड़ी इमारत है


  • मोहनजोदड़ो से प्राप्त बड़े-बड़े स्नानघर बहुत ही प्रमुख स्मारक है जिस के मध्य स्थित स्नान कुंड 11 पॉइंट 88 मीटर लंबा 7'01  मीटर चौड़ा 2 पॉइंट 43 मीटर गहरा प्राप्त हुआ है


  • अग्निकुंड लोथल और कालीबंगन से प्राप्त हुए हैं


  • मोहनजोदड़ो से प्राप्त तहसील पर तीन मुख वाले देवता पशुपतिनाथ की मूर्ति मिली है उनके चारों और हाथी गैंडा चीता एवम भैंसा विराजमान है


  • सिंधु सभ्यता की लिपि भाव चित्रात्मक थी यह लिपि दाएं से बाएं लिखी जाती थी अभिलेख एक से अधिक पंक्तियों का होता था तो पहली पंक्ति दाएं से बाएं मुड़ दूसरी पंक्ति बाई से दाई ओर लिखी जाती थी


  • घरों के दरवाजे और खिड़कियां सड़क की ओर ना खुल कर पिछवाड़े की ओर खुलते थे केवल लोथल नगर के घरों के दरवाजे मुख्य सड़क की ओर खुलती थी
  • इंडिया history gk ke liye

  • तौल की इकाई 16 के अनुपात में थी


  • मेसोपोटामिया लिखित में मेलवा शब्द का अभिप्राय सिंधु सभ्यता इसे ही है


  • वैदिक काल का विभाजन दो भागों में रिग वैदिक काल 1500 से 1000 ईसा पूर्व उत्तर वैदिक काल 1000 से 600 ईसा पूर्व माना जाता है


  • आर्य सबसे पहले पंजाब और अफगानिस्तान में बसे मैक्स मूलर आर्यों का मूल निवास स्थान मध्य एशिया घुमाना है आर्य द्वारा निर्मित सभ्यता वैदिक सभ्यता के कहलाई


आज हमने भारत के प्राचीन इतिहास के बारे में कुछ अपनी पोस्ट के माध्यम से होता है अगर इसमें किसी प्रकार की कोई कमी रह गई हो क्या गलती से लिखा गया हो तो माफ करना अगर इस बारे में किसी को अधिक जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं धन्यवाद     भारतीय इतिहास के बारे में और जानने के लिए 

Comments

Popular posts from this blog

kavi surdaas jivan prichye

भारतीय धर्मों के बारे में basic jankari muslim dharm jain dharm parsi dharm gk se संबंधित जानकारीWHAT IS THE HINDULISM

UNIVERSE KE BAARE ME BRAHMAND KYA HAI BRAHMAND KI KHOJ IN HINDI ब्रह्माण्ड की जानकारी[ हिंदी में ]