GENERAL KNOWLEGE INDIA 2018 BASIC JANKARI HINDI ME ASHOKA BINDUSAAR CHANDER GUPT MORYA

Basic gerenal knowlege in hindi question with answer gk in hindi me jaane www.gkpdo.in [हिंदी में ]

नमस्कार आज हम अपने ब्लॉग पर आज हम जानेंगे कि भारत पर किन किन साम्राज्य का आगमन हुआ उसके बारे में कुछ सामान्य ज्ञान हम इस पोस्ट में लिखेंगे


  1. मौर्य साम्राज्य का आगमन
  • चंद्रगुप्त मौर्य को मोर्य  वंश  का संस्थापक माना जाता है इनका जन्म 345 ईसापूर्व में हुआ था
  • चंद्रगुप्त मौर्य को जस्टिन ने सेंट्रो कोटस कहां था उनका परिचय विलियम जोंस चंद्रगुप्त मौर्य से की है 
  • 322 ईसापूर्व में चंद्रगुप्त मगध की राजगद्दी पर बैठा
  • चंद्रगुप्त जैन धर्म को मानता था
  • घनानंद को हराने में चाणक्य ने चंद्रगुप्त मौर्य की मदद की थी चाणक्य बाद में चंद्रगुप्त का प्रधानमंत्री बना चाणक्य द्वारा लिखी गई पुस्तक अर्थशास्त्र है जिसका संबंध राजनीति से माना जाता है
  • चंद्रगुप्त ने अपने आखरी में कर्नाटक के श्रवणबेलगोला नाम के स्थान पर व्यतीत किए थे
  • 305 ईसापूर्व मैं चंद्रगुप्त ने सेल्यूकस निकेटर को पराजित किया था
  • इसी कारण सेल्यूकस निकेटर ने अपनी पुत्री कार्नेलिया का विवाह चंद्रगुप्त से किया था और युद्ध में संधि शर्तों के अनुसार चार प्रांत काबुल कंधार हेरात और मकरान चंद्रगुप्त को दिए थे

WW


  • चंद्रगुप्त ने अपनी शिक्षा गुरु भद्रबाहु  से प्राप्त की थी
  • मेगास्थनीज सेल्यूकस निकेटर  राजदूत था जो चंद्रगुप्त का दरबारी था
  • मेगास्थनीज ने एक पुस्तक लिखी जिसका नाम Indica था उनके अनुसार जब सम्राट जनता के सामने आता है ऐसे अवसर पर जनता में उत्साह होना आवश्यक है    मेगास्थनीज के अनुसार राजा को एक सोने की पालकी में ले जाया जाता है राजा के रक्षक सोने और चांदी से सजे हाथियों पर सवार रहते हैं और कुछ अंगरक्षक पेड़ों को लेकर चलते हैं उन पेड़ों पर तोतों का झुंड रहता है जो सम्राट के सिर के चारों तरफ चक्कर लगाता है राजा के खाना खाने से पहले उनके कुछ विश्वास जनक नौकर खाना को पहले चखते हैं उसके बाद राजा खाना खाता है पुस्तक के अनुसार राजा एक कमरे में 2 दिन नहीं सोना चाहिए था
WWW.GKPDO.IN

  • पाटलिपुत्र के विषय में कुछ जानकारी

पाटलिपुत्र एक बहुत बड़ा प्राचीर से गिरा है जिसमें 570 वर्ग तथा 64 द्वार है दो तीन मंजिल वाले घर लकड़ी और कच्ची ईंटों से बनाए हुए हैं राजा का महल भी काठ से बनाया गया है

  • बिंदुसार का साम्राज्य के विषय में

  • चंद्रगुप्त मौर्य का उत्तराधिकारी बिंदुसार था 298 ईसापूर्व में मगध की गद्दी पर बैठा था
  • बिंदुसार को अमित्रघात के नाम से जाना जाता था मित्रघात का अर्थ होता है शत्रु का विनाशक
  • बिंदुसार आजीवक संप्रदाय का प्रेरक था
  • वायु पुराण में बिंदुसार को वारिसार कहा गया है 
  • बिंदुसार को जैन ग्रंथों में सिंहसेन कहा गया है
  • बिंदुसार के शासन काल में तक्षशिला में दो विद्रोह हुए इस विद्रोह को दबाने के लिए बिंदुसार से पहले सुसीम को और बाद में अशोक को भेजा गया


  • अशोक के जीवन के बारे में

  • बिंदुसार के बाद उनकी राजगद्दी पर अशोक 269 ईसापूर्व में मगध की राजगद्दी पर बैठा था
  • राज गद्दी पर बैठने से पहले अशोक अवंतिका राज्यपाल था
  • मास्की और गुर्जरा अभिलेखों में अशोक का नाम अशोक मिलता है
  • अशोक को पुराणों में अशोक वर्धन कहा गया है
  • अशोक ने अपनी अभिषेक की लगभग 8 वर्ष में ही 261 ईसापूर्व में कलिंग पर आक्रमण किया और कलिंग की राजधानी तो तोसली पर अधिकार कर लिया था
  • उपगुप्त नाम के एक बौद्ध भिक्षु ने अशोक  को बौद्ध धर्म की शिक्षा दी थी
  • अशोक ने आयोजकों को रहने के लिए साउथ की पहाड़ियों में चार गुफाओं का निर्माण करवाया था जिनके नाम हैं कर्ज जो पार सुदामा और विशाल झोपड़ी
  • सुभद्रांगी अशोक की माता का नाम था









WWW.GKPDO.IN


  • अशोक ने बौद्ध धर्म प्रचार के लिए अपने पुत्र महेंद्र और पुत्री संघमित्रा को भी श्रीलंका भेजा
  • भारत में शिलालेखों का सर्वप्रथम प्रचलन अशोक ने किया
  • अशोक ने अपने शिलालेखों में   ब्राही खरोष्ठी ग्रीक और माइक लिपि का प्रयोग किया था

  1. अशोक अशोक के लेखों को तीन भागों में बांटा जा सकता है एक शिलालेख नंबर दो स्तंभलेख और आखरी गुहालेख

  • अशोक के शिलालेखों की खोज 1750 ईस्वी मेंपद्रेटी फहन्थेलेर ने की थी 
  • इनकी संख्या 14 बताई है
  • अशोक के अभिलेख पढ़ने में सबसे पहली सफलता 1837 ईस्वी में जेम्स प्रिंसेप को हुई थी
  • स्तंभ लेखों की संख्या 7 है जिनको ब्राह्मी लिपि में लिखा गया है जो अलग-अलग 6 स्थानों से प्राप्त हुई
  • कौशांबी लेख को रानी का अभिलेख कहा 

Dosto yedi  hamare dwara di gai  jankari me yadi kisi parkar ki kami ho hme sujav de thank youu read my post please share this post 

यदि कोई सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर करे 
                                      HAVE A NICE DAY 

Comments

Popular posts from this blog

kavi surdaas jivan prichye

भारतीय धर्मों के बारे में basic jankari muslim dharm jain dharm parsi dharm gk se संबंधित जानकारीWHAT IS THE HINDULISM

UNIVERSE KE BAARE ME BRAHMAND KYA HAI BRAHMAND KI KHOJ IN HINDI ब्रह्माण्ड की जानकारी[ हिंदी में ]